Ohhhh

Please Pause/Stop Your Ad Blocker.

Hit enter after type your search item

इजराइल ने किया कोरोना वायरस की वैक्सीन बनाने का दावा, मरीजों को जल्द मिलेगी

महामारी बन चुके कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया में कहर बरपा रखा है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने नोवल कोरोना वायरस को महामारी घोषित किया है. इस महामारी से कई लोगों की जान जा चुकी है तो वहीं कई लोग इस वायरस की चपेट में आने के बाद अभी भी जूझ रहे हैं. इस डर के बीच लोगों के लिए कोरोना वायरस को लेकर एक राहत देने वाली खबर सामने आई है.

कोरोना वायरस की दहशत के बीच एक देश ने दावा किया है कि उसने कोरोना वायरस जैसी जानलेवा बीमारी के लिए वैक्सीन इजाद कर ली है. यही नहीं कहा जा रहा है कि जल्द ही इस वैक्सीन (टीके) की खेप सभी संक्रमित देशों को भेजे जाने की संभावना है

बताया जा रहा है कि इजराइल के इंस्टीट्यूट फॉर बायोलॉजिकल रिसर्च के वैज्ञानिकों ने इस खतरनाक बीमारी का तोड़ निकाल लिया है. इंस्टीट्यूट के वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि कोरोना वायरस (COVID-19) के टीके बनाए जा चुके हैं और उन्हें जल्द ही आधिकारिक मान्यता भी मिल जाएगी.

वहीं, इजराइल के रक्षा मंत्री नेफटाली बेनिट का कहना है कि हमारे वैज्ञानिकों ने कोरोना वायरस के ऊपर शोध करके वायरस के नेचर को समझा है. साथ ही कोरोना वायरस के जैविक तंत्र (Biologyical System) के बारे में भी बारीकी से अध्यन कर इसकी पहचान करने में सफलता हासिल की है.

उनका कहना है कि कोरोना वायरस वैक्सीन खोजने या परीक्षण किट खोजने के लिए व्यवस्थित कार्य योजना के अनुसार किया जाएगा. एक रिपोर्ट में कहा गया है कि कोरोना वायरस के विकास प्रक्रिया को परीक्षण और प्रयोगों की एक श्रृंखला की आवश्यकता होती है जो टीकाकरण के प्रभावी और सुरक्षित होने में मदद करता है

जानकारी के मुताबिक कोरोना वायरस की वैक्सीन बनाने के लिए कई तरह के परीक्षण की प्रक्रिया से गुजरना पड़ा. इसमें पहले जानवरों फिर उसके बाद इंसानों के ऊपर नई दवाई का प्रयोग किया गया है. इस दौरान वैक्सीन के इफेक्ट और साइड इफेक्ट की जांच कर अध्ययन भी किया जा रहा है

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This div height required for enabling the sticky sidebar